आत्मनिर्भर भारत अभियान क्या है इसके लाभ व पात्रता

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

आत्मनिर्भर भारत अभियान क्या है (Atma Nirbhar Bharat Abhiyan) :- हाल ही में केंद्र सरकार ने आत्म-निर्भर भारत मिशन की आर्थिक आत्मनिर्भरता, आत्मनिर्भर भारत अभियान (Atma Nirbhar Bharat Abhiyan) नामक एक किफायती योजना शुरू की है। यह दुनिया के किसी देश द्वारा घोषित सबसे बड़ी आर्थिक वृद्धि योजनाओं में से एक है। देश के प्रत्येक वयक्ति को यह पता होना चाहिए की आत्म निर्भर भारत अभियान क्या है ,इसके लिए आवेदन कैसे कर सकते है,इसके लिए योग्यता क्या होनी चाहिए और इसके लाभ क्या क्या है। इस लेख के माध्यम से हम Atma Nirbhar Bharat Abhiyan के बारे में सभी महत्वपूर्ण बाते जानेगे।

Atma Nirbhar Bharat Abhiyan संक्षिप्त विवरण

योजना का नाम आत्मनिर्भर भारत अभियान
किसके द्वारा आरंभ की गई प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी
योजना का प्रकार केंद्र सरकार
लाभार्थी देश का प्रत्येक नागरिक
उद्देश्य समृद्ध और संपन्न भारत निर्माण
आरंभ की तिथि 12 मई 2020
पैकेज की धनराशि 20 लाख करोड़ रुपए
ऑफिशियल वेबसाइट https://www.pmindia.gov.in/en/

आत्मनिर्भर भारत अभियान क्या है

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 12 मई को सुबह 8 बजे राष्ट्र को संबोधित किया और भाषण का फोकस “आत्म निरहार भारत” एक आत्मनिर्भर राष्ट्र पर था। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 13 मई शाम को 20 लाख करोड़ आर्थिक पैकेज के विवरण की घोषणा की। पीएम मोदी ने कहा कि भारत प्रत्येक दिन 2 लाख से अधिक एन 95 मास्क और पीपीई किट का उत्पादन करता है, भारत ने आपातकाल को एक संभावित अवसर में बदल दिया है यह आत्मनिर्भर भारत का एक बड़ा उदाहरण है। पीएम मोदी राहत पैकेज जोकि आत्मनिर्भर भारत अभियान है के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा 20 लाख करोड़ रुपए जो देश की जीडीपी का लगभग 10% है घोषित किया है ।

आत्मनिर्भर भारत अभियान का उद्देश्य

  • आत्म निर्भर अभियान योजना का उद्देश्य हमरे देश के लगभग सभी 130 करोड़ देश वासियों को आत्म निर्भर बनाना है! ताकि वे बिना किसी की सहायता स्वयं में इतने निर्भर बन सके की उन्हें इस कोरोना जैसी संकट की घडी में अपने और अपने परिवार के लालन पालन के लिए सरकार या किसी बाहरी सहायता का इन्तेजार करने की जगह स्वयं में उन्हें आत्म निर्भर बना कर एक शसक्त और आत्म निर्भर भारत के सपने को सच किया जा सके ।
  • ताकि हमारा देश किसी अन्य देश किसी अन्य देश की मदद के लिए मोहताज होने की बजाय दुनिया भर में अपने उपयोगी और जीवन रक्षक उत्पादों की बिक्री कर अपने देश की GDP को और मजबूत कर देश के विकास और इस महा संकट से उबरने में सफल हो सके ।

Atma Nirbhar Bharat Abhiyan के लाभ

  • 10 करोड़ मजदूरो को लाभ मिलेगा।
  • MSME- Medium and Small Business से जुड़े 11 करोड़ कर्मचारियों को लाभ होगा।
  • Kisan Credit Card का लाभ 2.5 नए किसानो, मछुवारे व पशु पालको को दिया जायेगा।
  • किसानो के लिए 30000 करोड़ अतिरिक्त Emergency Working Capital Fund नाबार्ड को दिए जायेंगे।
  • यह 90 हजार करोड़ के फण्ड के अतिरिक्त होगा PM aatm nirbhar bharat abhiyan।
  • रेहड़ी पट्टी कारोबारियों को 10 हजार रुपये का विशेष लोन व 5 करोड़ सरकार इनके लिए अतिरिक्त खर्च करेगी।
  • मुद्रा योजना में 50 हजार से 10 लाख तक कर्ज की व्यवस्था।
  • प्रवासी मजदूरों को दुसरे राज्यों / शहरो में सस्ते किराये के मकान।

आत्मनिर्भर भारत अभियान के लाभार्थी

  • देश का गरीब नागरिक।
  • श्रमिक।
  • प्रवासी मजदूर।
  • पशुपालक।
  • मछुआरे।
  • किसान।
  • संगठित क्षेत्र व असंगठित क्षेत्र के व्यक्ति।
  • काश्तकार।
  • कुटीर उद्योग।
  • लघु उद्योग।
  • मध्यमवर्गीय उद्योग।

आत्मनिर्भर भारत अभियान के स्तंभ / Pillars of “Atma Nirbhar Bharat”

आत्मनिर्भर भारत की ये भव्य इमारत पांच पीलर्स पर खड़ी होगी।ये निम्नलिखित है

  • अर्थव्यवस्था (Economy) :- पहला पिलर इकॉनमी है, एक ऐसी इकॉनॉमी जो इन्क्रीमेंटल चेंज (वृद्धिशील परिवर्तन) नहीं बल्कि क्वांटम जंप (बड़ी उछाल) लाए।
  • इन्फ्रास्ट्रक्चर (Infrastructure) :- दूसरा पिलर इन्फ्रास्ट्रक्चर (बुनियादी ढांचा), एक ऐसा इन्फ्रास्ट्रक्चर जो आधुनिक भारत की पहचान बने।’ प्रधानमंत्री ने कहा कि देश की 130 करोड़ की आबादी भी नए भारत के निर्माण में बड़ी भूमिका निभाएंगे। उन्होंने कहा, ‘चौथा पिलर हमारी डिमॉग्रफी। दुनिया की सबसे बड़ी डिमॉक्रसी में हमारी वायब्रेंट डिमॉग्रफी हमारी ताकत है। आत्मनिर्भर भारत के लिए हमारी ताकत का स्रोत है।
  • प्रौद्योगिकी संचालित सिस्टम (टेक्नोलॉजी ड्रिवेन सिस्टम) :- प्रधानमंत्री जी ने कहा कि एक ऐसा सिस्टम जो बीती शताब्दी की रीति-नीति नहीं, बल्कि 21वीं सदी के सपनों को साकार करने वाली प्रौद्योगिकी द्वारा संचालित व्यवस्थाओं पर आधारित हो।
  • आबादी (Demography) :- प्रधानमंत्री ने जोर देकर कहा कि दुनिया की सबसे बड़ी Democracy में हमारी Vibrant Demography हमारी ताकत है, आत्मनिर्भर भारत के लिए हमारी ऊर्जा का स्रोत है।
  • माँग (Demand) :- प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारी अर्थव्यवस्था में डिमांड और सप्लाई चेन का जो चक्र है जो ताकत है उसे पूरी क्षमता से इस्तेमाल किए जाने की जरूरत है। पीएम मोदी ने कहा, “देश में डिमांड बढ़ाने के लिए, डिमांड को पूरा करने के लिए, हमारी सप्लाई चेन के हर स्टेक-होल्डर का सशक्त होना जरूरी है। हमारी सप्लाई चेन, हमारी आपूर्ति की उस व्यवस्था को हम मजबूत करेंगे जिसमें मेरे देश की मिट्टी की महक हो, हमारे मजदूरों के पसीने की खुशबू हो।”

Click Here for More……

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top